क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो ने मनाया विश्व जनसंख्या दिवस 

12:48 pm or July 11, 2019
क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो ने मनाया विश्व जनसंख्या दिवस 
महावीर अग्रवाल
मंदसौर ११ जुलाई ;अभी तक;   विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर रतलाम जिले के शा.उ.मा.वि. रियावन में भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो मंदसौर द्वारा भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया । जिसमें छात्र छात्राओं ने जनसंख्या वृद्धि पर भाषण के माध्यम से अपने विचार व्यक्त किये ।
क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो ने मनाया विश्व जनसंख्या दिवस 

क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो ने मनाया विश्व जनसंख्या दिवस

इस अवसर पर प्रचार अधिकारी राम सहाय प्रजापति ने बताया की सन 1989 से प्रति वर्ष 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जा रहा है । ताकि लोगों को बढ़ती हुई जनसंख्या के प्रति जागरूक किया जा सके । साथ ही लोगों को जनसंख्या वृद्धि नियंत्रण के उपायों व परिवार नियोजन के संबंध में जागरूक किया जा सके । उन्होंने बताया कि 90% समस्याओं का कारण बढ़ती हुई जनसंख्या है । यदि सही समय मे इसका समाधान नहीं किया गया तो यह समस्या विकराल रूप धारण कर लेगी । इस समस्या से निपटने के लिए सरकार के साथ साथ लोगों को भी अपने स्तर से प्रयास करने होंगे । प्रतियोगिता के क्रमश:  प्रथम, द्वितीय और तृतीय विजेताओं कु. महिराज कुंवर, कु. ईशिका आंजना और कु. नेहा कुंवर को विभाग की ओर से पुरुस्कृत किया गया । इस अवसर पर आर.ओ.बी. भोपाल की नरेश भट्ट कठपुतली पार्टी द्वारा कठपुतली का मंचन कर लोगों को रोचक तरीके से जानकारी दी गयी ।

                 शिक्षक श्री सिसोदिया ने कहा कि हमारा देश जनसंख्या के मामले में विश्व में दूसरे स्थान में है । यदि इसी गति से हमारे देश की जनसंख्या बढ़ती रही तो हम बहुत जल्द पहले स्थान में आ जाएंगे । जो कि बहुत ही चिंता का विषय है । श्री विक्रम कारपेंटर ने कहा कि जितनी ज्यादा संख्या में लोगों की वृद्धि होगी उतनी ही ज्यादा मात्रा में भोजन, जल, घर आदि की जरूरत बढ़ती जाएगी । क्योंकि प्राकृतिक संसाधन सीमित है  इसलिए उनका दोहन भी एक सीमा तक किया जाना ही उचित है यदि जनसंख्या में वृद्धि बहुत ज्यादा मात्रा में होती है तो उन संसाधनो का दोहन भी ज्यादा करना पड़ेगा जिससे उनके जल्दी समाप्त होने का खतरा भी बढ़ जाता है । कार्यक्रम में शिक्षक श्री राजा राम शिंदे, श्री ओम प्रकाश परमार, श्री हरी शंकर रावल, श्री प्रकाश धाकड़, श्री तेज कुमार गौर, श्री नयुम खां पठान और बहुसंख्या में छात्र-छात्राएं शामिल हुए |

About the author /


Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *