उत्तराखंड में हुआ मंदसौर जिले की शिक्षिका ललिता सिसोदिया का सम्मान

महावीर अग्रवाल
 मन्दसौर १२ जून ;अभी तक;  उत्तराखंड के हरिद्वार में 17 राज्यो से आये शिक्षक और शिक्षिकाओं का सम्मान समारोह आयोजित हुआ जिसमे सभी राज्यो में म.प्र. में सबसे अव्वल रहा मप्र का मन्दसौर जिला। वहां पर उत्तराखंड प्रदेश सरकार के केबिनेट मंत्री मदन कौशिक द्वारा  शिक्षिका ललिता सिसोदिया को गोल्ड मेडल, स्मृति चिन्ह और प्रशस्ति पत्र देकर मंत्री कौशिक सहित दिग्गज हस्तियों द्वारा सम्मानित किया गया।
                उल्लेखनीय है की मन्दसौर जिले के शिक्षिका श्रीमती सिसौदिया द्वारा अपने स्कूल में स्वयं के खर्चे से लगभग 2 लाख रूपये खर्च करके स्कूल में पेंटिंग सहित खुद के निजी पैसे से अतिथि शिक्षक को रखा। ऐसे तमाम नवाचार करे गए गरनई स्कूल की शिक्षक ललिता सिसोदिया द्वारा। शासकीय माध्यमिक विद्यालय गरनई मल्हारगढ़,मन्दसौर की आदर्श शिक्षिका श्रीमती ललिता सिसोदिया द्वारा बेसिक शिक्षा के उत्थान के लिए उत्कृष्ट कार्य किये जाने के कारण अभ्युदय वात्सल्यम समिति के संयोजन में नगर निगम हरिद्वार के टाउन हॉल में अखिल भारतीय शैक्षिक विमर्श एवं नवाचारी शिक्षक सम्मान समारोह में सम्मानित किया। जिसमें  देश के कोने कोने से आये हुए नवाचारी शिक्षकों का जमावड़ा रहा।
                 समारोह में  प्रथम दिवस मुख्य रूप से सुभाषी फाउंडर के अमित जी केंद्रीय हिंदी निदेशालय नई दिल्ली के निदेशक प्रोफेसर अवनीश कुमार डॉ पुष्पा रानी वर्मा, उप निदेशक एस सी ई आर टी डॉ वीरेन्द्र रावत,आदि विद्वान, जनप्रतिनिधि मौजूद रहे जिनके सम्मुख श्रीमती ललिता सिसोदिया ने विद्यालय में किये गए उत्कृष्ट नवाचारों का पी पी टी,वीडियो के माध्यम से प्रस्तुत किया। श्रीमती सिसोदिया के प्रस्तुतिकरण को लोगों ने खूब सराहा। समारोह के मुख्य अतिथि उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने सिसोदिया के किये गए कार्याे की जमकर सराहना की गयी। सम्मान अभ्युदय वात्सल्य परिवार उत्तराखंड के तत्वाधान में अखिल भारतीय शैक्षिक विमर्श एवं नवाचार शिक्षक सम्मान में राजकीय माध्यमिक शिक्षक शिक्षिका ललिता सिसोदिया ने पुरे  मप्र से प्रतिनिधित्व किया। उत्तराखंड शिक्षा विकास के उपनिदेशक पुष्पा रानी वर्मा ,जिला शिक्षा अधिकारी ललित नारायण मित्र विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल हुए इस सम्मान समारोह के दौरान अध्यक्ष डॉ गार्गी मिश्र कार्यक्रम संयोजक संजय व सह संयोजक ललित गुप्ता के अलावा विभिन्न राज्यों से पहुंचे अन्य शिक्षक भी उपस्थित थे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि राजकीय शिक्षकों से सरकार को बहुत अपेक्षाएं हैं सरकार शिक्षकों की समस्याओं को दूर करने को गंभीर हैं और श्रीमती ललिता सिसोदिया शिक्षिका के द्वारा किए गए कार्य से अति प्रसन्न हुआ और हमेशा उनके सहायता के लिए तत्पर रहेंगे। शिक्षिका के द्वारा किए गए उल्लेखनीय कार्यों से प्रसन्न होकर सर विकास मंत्री मदन कौशिक द्वारा शिक्षिका की प्रशंसा की गई और कहा गया कि ऐसे अच्छे काम करने वाले शिक्षकों के प्रति हम हमेशा सहयोग करने के लिए तत्पर। नगर निगम के टाउन हाल में समिति की अध्यक्ष डॉ गार्गी मिश्रा, मदरहुड विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रोफेसर नरेंद्र शर्मा, उत्तरांचल पर्वतीय कर्मचारी शिक्षक संगठन के प्रांतीय अध्यक्ष मनोहर कुमार मिश्र, कार्यक्रम संरक्षक व जिला अध्यक्ष केसी शर्मा, ग्रीन स्कूल के निदेशक वीरेंद्र रावत, निदेशक केंद्रीय हिंदी भाषा के निदेशालय और चेयरमैन वैज्ञानिक शब्दावली आयोग नई दिल्ली के डॉ अवनीश कुमार ,शुभासी फाउंडर के अमित गुप्ता केंद्रीय हिंदी निदेशालय नई दिल्ली के निदेशक प्रोफेसर अवनीश कुमार डॉ पुष्पा रानी वर्मा उपनिदेशक डॉ वीरेंद्र रावत सहित संजय व्यास थे

About the author /


Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *