मोदी ने केदारनाथ-बद्रीनाथ यात्रा की अनुमति के लिए आयोग का आभार जताया, राहुल ने नाटक करार दिया

केदारनाथ/नयी दिल्ली, 19 मई ; मतदान के अंतिम चरण से पहले केदारनाथ और बद्रीनाथ की अपनी यात्रा पर उठे विवादों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यात्रा की अनुमति देने के लिए रविवार को चुनाव आयोग का आभार जताया, वहीं विपक्षी दलों ने इस बहु प्रचारित यात्रा पर आचार संहिता उल्लंघन का आरोप लगाया।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केदारनाथ यात्रा को नाटक करार दिया और चुनाव आयोग की आलोचना करते हुए कहा कि ‘‘मिस्टर मोदी और उनके गैंग के समक्ष उसका समर्पण सभी भारतीयों के लिए जाहिर है।’’

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘पहले चुनाव आयोग का डर और सम्मान होता था। अब नहीं।’’

केदारनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना करने के बाद और मंदिर के पास एक पवित्र गुफा में करीब 17 घंटे साधना करने के बाद मोदी ने कहा, ‘‘मैंने कुछ नहीं मांगा। मैं मांगने में विश्वास नहीं रखता क्योंकि उसने आपको मांगने योग्य नहीं बनाया है बल्कि देने योग्य बनाया है। बाबा केदारनाथ का भारत ही नहीं पूरी मानव जाति के लिये, उनके सुख समृद्धि और कल्याण के लिये आशीर्वाद बना रहे।’’

केदारनाथ के निकट एक गुफा में बिताये समय का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस दौरान वह बाहर के वातावरण से पूरी तरह कटे रहे जहां कोई संचार का साधन नहीं था। उन्होंने कहा कि वहां एक छोटी सी खिडकी से वह केदारनाथ मंदिर के दर्शन करते रहे।

मोदी ने उन्हें अनुमति देने के लिए चुनाव आयोग का शुक्रिया अदा किया। आयोग ने यात्रा की अनुमति देते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय को याद दिलाया कि अभी आदर्श आचार संहिता लागू है। प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें वहां दो दिन का आराम मिला।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह उनका सौभाग्य है कि केदारनाथ की आध्यात्मिक चेतना की भूमि पर उन्हें कई वर्षों से आने का अवसर मिलता रहा है।

उन्होंने मीडिया का भी आभार व्यक्त किया कि चुनाव की व्यस्तता के बावजूद वे केदारनाथ पहुंचे और इससे अच्छा संदेश जायेगा कि केदारनाथ में सुख सुविधायें विकसित हो चुकी हैं ।

कांग्रेस समेत प्रमुख विपक्षी दलों ने यात्रा से आचार संहिता का उल्लंघन होने का आरोप लगाया जिसकी कई तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर पिछले दो दिन में प्रसारित हुए हैं। मोदी और भाजपा के ट्विटर खातों के माध्यम से ये प्रसारित हुए।

कांग्रेस सांसद प्रदीप भट्टाचार्य ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर कहा कि यात्रा का मीडिया कवरेज आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि उन्होंने आयोग से कवरेज रोकने और कड़ी कार्रवाई करने का अनुरोध किया था।

तृणमूल कांग्रेस ने भी प्रधानमंत्री मोदी द्वारा केदारनाथ मंदिर में मीडिया को संबोधित किए जाने के बाबत चुनाव आयोग को रविवार को पत्र लिखकर शिकायत की और इसे ‘अनैतिक’ बताया। साथ ही पार्टी ने मोदी की इस पवित्र तीर्थ स्थान की यात्रा को मिल रहे कवरेज को आदर्श आचार संहिता का ‘गंभीर उल्लंघन’ भी करार दिया है।

तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता डेरेक ओ ब्रायन ने चुनाव आयोग को लिखे पत्र में कहा है कि प्रधानमंत्री ने ऐलान किया कि केदारनाथ मंदिर के लिए मास्टर प्लान तैयार है। साथ ही उन्होंने मंदिर नगरी में जनता और मीडिया को संबोधित भी किया। यह पूरी तरह ‘‘अनैतिक और गलत है।’’

प्रधानमंत्री ने रविवार को सुबह हिमालयी क्षेत्र में स्थित केदारनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की।

मोदी ने कहा कि अब केदारनाथ में काम ठीक चल रहा है और मैं अपेक्षा करता हूं कि लोग सिंगापुर और दुबई जाने के अलावा केदारनाथ तथा भारत के अन्य जगहों पर भी जायें क्योंकि अपने देश में भी देखने लायक काफी कुछ है ।

तेलुगूदेशम पार्टी के अध्यक्ष एन चंदबाबू नायडू ने मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा को पत्र लिखकर दावा किया कि मंदिरों में मोदी की निजी गतिविधियों का लगातार प्रसारण आचार संहिता का उल्लंघन है।

मंदिर में पूजा अर्चना करने के बाद मोदी केदारनाथ से हेलीकाप्टर से बदरीनाथ के लिये रवाना हो गये।

About the author /


Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *