न्यूजीलैंड में मस्जिद गोलीबारी में बाल बाल बचे बांग्लादेशी क्रिकेटर, दौरा रद्द

क्राइस्टचर्च, 15 मार्च ; बांग्लादेश क्रिकेट टीम का न्यूजीलैंड दौरा यहां मस्जिद में हुई गोलीबारी के बाद शुक्रवार को रद्द कर दिया गया जिसमें मेहमान टीम के खिलाड़ी बाल बाल बचे।
न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डन ने इस गोलीबारी को ‘‘हिंसा की असाधारण करतूत’’ करार दिया।
स्थानीय मीडिया के अनुसार हैगले पार्क में स्थित मस्जिद अल नूर में हुए हमले में कई लोगों की मौत हो गयी।
बांग्लादेश टीम के खिलाड़ी मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिये प्रवेश करने वाले थे लेकिन वे बाल बाल बचे और सुरक्षित हैं। पर मौजूदा हालात को देखते हुए अधिकारियों ने शनिवार से शुरू होने वाले तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच को रद्द कर दिया। बांग्लादेश के लिये यह दौरे का अंतिम मैच था।
बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने अपने टि्वटर पेज पर बयान में कहा, ‘‘न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में बांग्लादेश क्रिकेट टीम के सभी सदस्य शहर में हुई गोलीबार की घटना के बाद सुरक्षित होटल पहुंच गये हैं। बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड खिलाड़ियों और टीम प्रबंधन से लगातार संपर्क बनाये है। ’’
बांग्लादेश की न्यूज एजेंसी बीएसएस ने टीम मैनेजर खालिद मसूद पायलट के हवाले से कहा, ‘‘बांग्लादेशी क्रिकेटर पहली फ्लाइट से न्यूजीलैंड से रवाना होने के लिये तैयार हैं। ’’
उन्होंने कहा, ‘‘वे सभी सुरक्षित हैं लेकिन घबराये हुए हैं। वे अपनी आंखों के सामने हुई घटना को भुला नहीं सकते। ’’
बांग्लादेश के भारतीय प्रदर्शन विश्लेषक श्रीनिवास चंद्रशेखरन ने भी सोशल मीडिया पर इस घटना की बात की। चेन्नई के चंद्रशेखरन पिछले एक साल से टीम के साथ हैं।
मीडिया रिपोर्टों के अनुसार उन्होंने कहा, ‘‘गोलीबारी से बाल बाल बचे। दिल की धड़कन इस घटना के बाद बढ़ गयी और सब घबराये हुए हैं। ’’
न्यूजीलैंड क्रिकेट ने खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ की सुरक्षा की पुष्टि करते हुए ट्वीट किया, ‘‘क्राइस्टचर्च में हुई गोलीबारी में जो लोग प्रभावित हुए उनके परिवारों और दोस्तों के प्रति हमारी संवेदनायें। न्यूजीलैंड क्रिकेट और बीसीबी के बीच संयुक्त समझौते के बाद हेगले ओवल टेस्ट रद्द किया जाता है। ’’
वहीं टीम के सीनियर सलामी बल्लेबाज तमीम इकबाल ने कहा कि यह टीम के लिये डरावना अनुभव था।
उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘यह डरावना अनुभव था और कृपया हमारे लिए प्रार्थना कीजिए।’’
न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री ने हमले की कड़ी निंदा करते हुए संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह स्पष्ट है कि यह न्यूजीलैंड के सबसे काले दिनों में से एक है। यहां स्पष्ट रूप से जो हुआ, वह हिंसा की असाधारण करतूत है।’’
‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ के अनुसार घटना के समय ज्यादातर कोचिंग स्टाफ के सदस्य टीम के होटल में थे जबकि मुख्य कोच स्टीव रोड्स मैदान पर थे।

About the author /


Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *