प्रकाशन सामग्री पर प्रिंट लाइन होना आवश्यक

मयंक भार्गव
बैतूल, 14 मार्च ;अभी तक;  अपर कलेक्टर श्री जगदीश गोमे की अध्यक्षता में गुरूवार को जिले के मुद्रकों, प्रकाशकों एवं फ्लेक्स प्रिंटर्स की बैठक आयोजित की गई। बैठक में लोकसभा निर्वाचन 2019 के दृष्टिगत निर्वाचन पम्पलेटों, पोस्टरों आदि के मुद्रण में निर्वाचन आयोग के निर्देशों का पालन करने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री कुमार शानू देवडिय़ा भी मौजूद थे।
               बैठक में बताया गया कि कोई व्यक्ति किसी ऐसे निर्वाचन पम्पलेट का मुद्रण या प्रकाशन नहीं करेगा अथवा मुद्रित या प्रकाशित नहीं करवाएगा, जिसके मुख्य पृष्ठ पर मुद्रक एवं उसके प्रकाशक का नाम व पता न लिखा हो। लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 127 क के अनुसार किसी भी प्रचार सामग्री, निर्वाचन पम्पलेट अथवा पोस्टर या मुद्रित किसी प्रकार की अन्य सामग्री प्रिंट लाईन मुद्रक और प्रकाशक का नाम व पता स्पष्ट रूप से लिखा जाना अनिवार्य होगा। कोई व्यक्ति किसी निर्वाचन पम्पलेट अथवा पोस्टर का मुद्रण नहीं करेगा या मुद्रित नहीं करवाएगा, जब तक कि प्रकाशक की पहचान की घोषणा उनके द्वारा हस्ताक्षरित तथा दो व्यक्ति जो उन्हें व्यक्तिगत रूप से जानते हो, द्वारा सत्यापित न हो तथा जिसे उनके द्वारा डुप्लीकेट में मुद्रक को न दिया जाए अथवा जब तक कि दस्तावेज के मुद्रण के पश्चात उचित समय पर मुद्रक द्वारा दस्तावेज की एक प्रति के साथ घोषणा की एक प्रति न भेजी जाए। लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 127 क 2 के अधीन मुद्रित सामग्री की प्रतियां चार प्रतियों में मुद्रण के तीन दिन के भीतर अनिवार्यत: जिला निर्वाचन कार्यालय में प्रस्तुत किया जाना होगा।
                  निर्वाचक पम्पलेटों अथवा पोस्टर आदि के मुद्रण कार्य हाथ में लेने के पहले मुद्रक को धारा 127 क दो की शर्तों के अनुसार अनुबंध क में दिए गए आयोग द्वारा निर्धारित प्रोफार्म में प्रकाशक से एक विज्ञप्ति प्राप्त कर लेनी चाहिए। यह विज्ञप्ति प्रकाशक द्वारा हस्ताक्षरित होनी चाहिए और ऐसे दो व्यक्तियों द्वारा सत्यापित होना चाहिए, जो प्रकाशक को व्यक्तिगत रूप से जानते हो। निर्देशों में कहा गया है कि प्रकाशक की विज्ञप्ति सहित मुद्रित सामग्री की चार प्रतियां उसके मुद्रण के तीन दिन के भीतर प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा। ऐसी मुद्रित सामग्री और विज्ञप्ति के साथ छापे गए दस्तावेजों की प्रतियों की संख्या और इस कार्यालय के लिए वसूल की गई कीमत अनुबंध ख में दिए गए प्रारूप में भरकर प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा। अपर कलेक्टर ने समस्त मुद्रकों एवं प्रकाशकों से अपेक्षा की है कि वे उपरोक्त निर्देशों का पालन करें। किसी प्रकार के उल्लंघन की दशा में नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

About the author /


Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *