वचन पत्र में दी गई सभी मांगो का निराकरण शीघ्र किया जाएगा-श्री प्रियव्रत सिंह

महावीर अग्रवाल 

मन्दसौर/12 फ़रवरी/अभीतक । राज्य के  ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रतसिंह ने कहा है कि विद्युत कर्मचारियों की वचन पत्र में शामिल मांगों पर तेजी से कार्यवाही की जा रही है और कुछ मांगो को पूरा भी कर दिया गया है स उन्होंने विद्युत कर्मचारियों का आव्हान किया है कि इंदिरा किसान ज्योति योजना एवं इंदिरा ग्रह ज्योति योजना को क्रियांवित करने में अपनी महती भूमिका निभाएं। बेहतर उपभोक्ता सेवा एवं निर्बाध विद्युत प्रदान कर शासन एवं विभाग की छबि के साथ स्वयं की छबि भी निखारे।
  श्री प्रियव्रतसिंह ने मध्य प्रदेश विद्युत कर्मचारी संघ फेडरेशन इंटक द्वारा बिजली नगर गोविंदपुरा भोपाल में आयोजित प्रांतीय सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।
इस सम्मेलन में विधि विधायी एवं जनसंपर्क मंत्री पी.सी. शर्मा, भोपाल मध्य क्षेत्र के विधायक आरिफ मसूद, कांग्रेस कमेटी के संगठन महामंत्री राजीवसिंह, मध्यप्रदेश इंटक के अध्यक्ष आर.डी. त्रिपाठी सहित बड़ी संख्या में प्रदेश के कोने-कोने से आए विद्युत कर्मचारी उपस्थित थे।
सम्मेलन के संयोजक व विद्युत फेडरेशन के महामंत्री श्री बी.डी. गोतम ने विद्युत कर्मचारियों की सभी समस्याओं से उर्जा मंत्री को अवगत कराते हुए वचन पत्र में शामिल आउट सोर्स व संविदा कर्मियों के नियमितीकरण, छूटे हुए अनुकंपा नियुक्ति सहित पेंशनरो की लंबित मांगों के शीघ्र निराकरण की मांग की।
उर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिह ने कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के विद्युत कर्मचारियों की प्रत्येक समस्या पर शीघ्र एवं सहानुभूति पूर्वक निर्णय किया जाएगा, चाहे वह समस्या वचन पत्र में शामिल है या नहीं। वचन पत्र में शामिल बिंदू में पशु हानि पर आर्थिक सहायता, किसानों को कृषि पंप हेतु लैट रेट व घरेलू उपभोक्ताओं के लिए इंदिरा किसान ज्योति योजना व इंदिरा ग्रह ज्योति योजना, नियमित रिक्त पदों को 60 दिवस में भरने हेतु निर्देश जारी कर दिए हैं। आउट सोर्स कर्मियों व संविदा कर्मियों की समस्याओं के लिए समिति गठित कर दी गई है जो उनकी समस्याओं के निराकरण के लिए कार्य करेगी तथा इसी के साथ उच्च स्तर पर समस्याओं के निराकरण हेतू भी समिति का गठन किए जाने की दिशा में काम किया जा रहा है निकाले गए कर्मियों की बहाली बिना शर्त अनुकंपा नियुक्ति, समान कार्य के लिए समान वेतन व समान पद नाम, पेंशनर्स व कंपनी केडर के कर्मचारियों के विद्युत बिल में छूट, स्थानांतरण नीति पारदर्शी बनाने तथा भेदभाव के आधार पर पूर्व में किए गए स्थानांतरण की समीक्षा की जाएगी, मध्यप्रदेश के तीनो वितरण कंपनी का एकिकरण किया जाए, उपभोक्ताओं की संख्या के अनुपात में तृतीय व चतुर्थ श्रेणी के पद स्वीकृत कर ओ एस (संगठननात्मक संरचना) बनाया जाए, एक कंपनी से  दूसरी कंपनी में स्थानांतरण हेतु नीति बनाई जावे, विद्युत कर्मचारियों की सुरक्षा हेतु इलेक्टिसिटी वर्कर्स प्रोटेक्शन एक्ट बनाया जाए, पद नाम परिवर्तन किए जाए सहित कांग्रेस के वचन पत्र में लिखित विद्युत कर्मचारियों की सभी मांगों के निराकरण की दिशा में काम किया जा रहा है, कार्यक्रम के शुरुआत में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व मध्य प्रदेश विद्युत फेडरेशन के संस्थापक महामंत्री पूर्व विधायक स्व. श्री डी.पी. पाठक के चित्र पर अतिथि द्वारा माल्यार्पण किया गया। कार्यक्रम का संचालन महामंत्री गोतम ने किया। आभार जोनल सचिव डी.एस. चंद्रावत ने व्यक्त किया।
उक्त सम्मेलन में मंदसौर व्रत से सैकड़ों कर्मचारियों ने भोपाल पहुचकर भाग लिया। उपरोक्त जानकारी संस्था के राजेन्द्र चाष्टा व दिलीप शर्मा द्वारा दी गई व  सम्मेलन को सफल बनाने हेतु सभी सदस्यों का आभार माना तथा भविष्य में भी इसी प्रकार सहयोग की अपील करी।
डी.एस. चन्द्रावत

About the author /


Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *