State

बिजली अफ़सर को बन्धक बनाकर,मारपीट करने वाले आरोपी को दो वर्ष का करावास

देवेश शर्मा

मुरैना  6 दिसम्बर ;अभी तक; जििले के अंबाह तहसील के न्यायिक प्रथम श्रेणी मजिस्ट्रेट तृतीय ने  बिजली कंपनी के एक कनष्ठि यंत्री को मारपीट कर बंधक बनाने व शासकीय कार्य में बाधा डालने वाले को दो साल की सजा व 17 सौ रुपए के अर्थदंड की सजा दी है।

एडीपीओ भूपेन्द्र सिंह ने आज बताया कि बिजली कंपनी अंबाह में रीतेश अवस्थी, कमलेश व राकेश सांवले कनष्ठि इंजीनियर के रूप में पदस्थ थे। 24 मई 2011 को वे अपने वाहन चालक रमेश के साथ बिजली कनेक्शन की जांच करने के लिए बरेह गांव में मुन्नाा सिंह के वेयरहाउस पर चेकिंग के लिए पहुंचे। वेयरहाउस पर जब बिजली चेक की तो वहां का कनेक्शन अवैध था और संबंधित बिल भी नहीं दिखा सके। उन्होंने बताया कि इसी दौरान वेयरहाउस के मैनेजर इंद्रवीर सिंह पुत्र मुन्नाा सिंह व उसके सहायक वासुदेव ने उनसे मारपीट की और गोदाम का शटर लगाकर करीब दो घंटे तक बंधक बनाकर रखा। साथ ही उनके वाहन को भी कब्जे में ले लिया। बिजली कंर्मचारियों ने फोन से घटना के बारे में अपने वरिष्ठों को बताया।

उन्होंने बताया कि इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची टीम के सदस्यों केा रिहा कराया। इस दौरान आरोपित मौके से भाग निकले। एडीपीओ ने बताया कि पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज किया। पुलिस ने आरोपित इंद्रवीर को तो गिरफ्तार कर लिया। लेकिन आरोपी वासुदेव अभी भी फरार है। न्यायालय ने आरोपी इंद्रवीर सिंह को दोषी पाया और उसे भादविं की धारा 332 में दो साल का सश्रम कारावास व धारा 353 में एक साल का सश्रम कारवास व धारा 342 में छह महीने का सश्रम कारावास की सजा सुनाई है॥ साथ ही 17 सौ रुपए के अर्थदंड की भी सजा सुनाई है।

About the Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *