State

कान्हा टाइगर रिजर्व की टीम ने तेंदुआ की खाल अंतरराज्यीय तस्कर से जप्त की, विवेचना जारी

कान्हा टाइगर रिजर्व की टीम ने तेंदुआ की खाल अंतरराज्यीय तस्कर से जप्त की विवेचना जारी
सलिल राय

मंडला ५ दिसम्बर ;अभी तक; मध्यप्रदेश के मण्डला जिला के विश्व विख्यात कान्हा टाइगर की स्पेशल टीम ने एक तेन्दुआ की खाल जप्त कर वन्यजीव के दो तस्करों को बन्दी बनाया हैं।

कान्हा टाइगर रिजर्व की टीम ने तेंदुआ की खाल अंतरराज्यीय तस्कर से जप्त की विवेचना जारी

कान्हा टाइगर रिजर्व की टीम ने तेंदुआ की खाल अंतरराज्यीय तस्कर से जप्त की विवेचना जारी

कान्हा पार्क प्रसाशन की स्पेशल टीम प्रभारी सुधीर मिश्रा ने आज देर रात इस तेंदुआ की खाल और नाखून के साथ दो वन्यजीव तस्करों को पकड़ने की जानकारी देते बताया कि पकड़े गये तस्कर शिवराम वल्द बाबूराम यादव साकिन तेलियापानी धोबे थाना कुगदूर तहसील पंडरिया जिला कवर्धा छत्तीसगढ़ और आनंद वल्द प्रसादी दास सोनवाने साकिन पुरानी डिंडोरी  रहवासी को तेंदुआ की खाल नाखून जप्ती की कार्यवाही की हैं।जप्ती सामग्री में दो मोबाइल फोन एक नायलोन की बारी भी शामिल हैं।
                मिश्रा के बताये अनुसार दोनों आरोपियों को कान्हा पार्क के बैहर मुक्की के जंगल मार्ग के मोहगांव दान कक्ष क्रमांक 1091 बीट उमरदोनी परिछेत्र खापा में एक बोरी में तेन्दुआ की खाल नाखून उंगली सहित ले जाते समय पकड़ा गया यह कार्यवाही मुखबिर की सूचना पर की गई हैं।
इस कार्यवाही में सुधीर मिश्रा कान्हा पार्क अधीक्षक देवेश खराड़ी रेंज आफिसर खापा कान्हा आशीष मोहन देवी ठाकरे रमेश ओझा खुशीराम भूपेन्द्र ठाकरे दोहाराम ठाकरे टेकराम यादव विनोद कुसरे तुलसी बिसेन विक्रम रमेश शामिल रहे।
उलेखनीय यह हैं कि मध्यप्रदेस कभी टायगर स्टेट के दरजे से पहचाना जाता था जो वर्तमान में यह तमगा कान्हा टाइगर रिजर्व एक बार फिर पाने के करीब हैं , कान्हा के जंगलों में बाघ वंश की सँख्या के बढ़ते गिरते ग्राफ की साफ संख्या का ग्राफ भी उजागर होना चाहिए यह स्थानीय जन सम्वादों में सवाल दर सवाल यहाँ सवाल बना रहता है।

About the Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *