State

श्रमिक यूनियन के अधिवेशन में गूंजे इंकलाब जिंदाबाद-कामरेड को लाल सलाम के नारे

मोहम्मद सईद

शहडोल 2 दिसंबर ;अभीतक ;रेलवे स्टेशन और रेलवे काॅलोनी का पूरा क्षेत्र आज कामरेड को लाल सलाम, एआईआरएफ जिंदाबाद, आवाज दो हम एक हैं, माइलेज देना होगा, पुरानी पेंशन स्कीम देना होगा और श्रमिक यूनियन करे पुकार इंकलाब जिंदाबाद के नारों से गूंज उठा। मौका था साउथ ईस्ट सेंट्रल रेलवे श्रमिक यूनियन के शहडोल शाखा के प्रथम वार्षिक अधिवेशन के आयोजन का। अधिवेशन से पहले श्रमिक यूनियन के सभी केंद्रीय पदाधिकारी खुली जीप में सवार होकर रैली की शक्ल में रेलवे स्टेशन से अधिवेशन स्थल नार्थ ईस्ट इंस्टीट्यूट पहुंचे।

श्रमिक यूनियन के अधिवेशन में गूंजे इंकलाब जिंदाबाद-कामरेड को लाल सलाम के नारे

श्रमिक यूनियन के अधिवेशन में गूंजे इंकलाब जिंदाबाद-कामरेड को लाल सलाम के नारे

अधिवेशन में साउथ ईस्ट सेंट्रल रेलवे श्रमिक यूनियन के जोनल महामंत्री मनोज बेहरा, उपाध्यक्ष एसएम जयप्रकाश, मंडल संयोजक बिलासपुर संजय सिन्हा, सहायक महामंत्री के अमर कुमार, सहायक महामंत्री पीके यादव, सहायक महामंत्री नवीन कुमार, सहायक महामंत्री एके मोहंती, सलाहकार आरएस गौर, एस सुब्बाराव, एसके मुखर्जी, अनूपपुर के सचिव वीरेंद्र प्रसाद, पेण्ड्रा के सचिव आदिल खान, रनिंग स्टाॅफ शहडोल के अध्यक्ष बीबी शर्मा, सचिव बिलासपुर वाईबी कृष्णकांत, आशीष लाल, सियाराम और श्रीमती सरस्वती चंद्रा मंचासीन रहीं। अधिवेशन की अध्यक्षता आरएस गौर ने की। अधिवेशन के प्रारंभ में सभी मंचासीन अतिथियों का श्रमिक यूनियन के स्थानीय सदस्यों ने फूल मालाओं से आत्मीय स्वागत किया। अधिवेशन को संबोधित करते हुए जोनल अध्यक्ष मनोज बेहरा ने श्रमिक यूनियन के गठन से लेकर उसकी गतिविधियों पर विस्तार से प्रकाश डाला। श्री बेहरा ने यह भी बताया कि तकनीकि कारणों से मेंस यूनियन के स्थान पर श्रमिक यूनियन नाम दिया गया है और इसकी संबद्धता एआईआरएफ से है।

निजीकरण की हो रही तैयारी

                       अधिवेशन को संबोधित करते हुए सभी केंद्रीय पदाधिकारियों ने कहा कि आज केंद्र सरकार द्वारा रेलवे के निजीकरण की तैयारी की जा रही है। उन्होंने बताया कि आज रेलवे के सभी हिस्सों में दैनिक वेतन के बहाने कर्मचारियों की तैनाती की जा रही है और वह दिन दूर नहीं जब पूरे रेलवे को निजी हाथों में सौंप दिया जाएगा। नेताओं ने कहा कि हालत यह है कि पटरियों की जांच में भी टेªकमेन के साथ एक निजी आदमी को भेजा जा रहा है। उन्होंने बताया कि आज सरकार द्वारा कर्मचारियों की छटनी की जा रही है और कर्मचारियों को दबाने का काम किया जा रहा है। नेताओं ने लाल झंडे के संघर्ष का उदाहरण देते हुए बताया कि लाल झंडे के नीचे रेल कर्मचारियों के हितों को लेकर अनेंकों बार संघर्ष किया गया है। केंद्रीय पदाधिकारियों ने यह भी कहा कि न्यू पेंशन स्कीम से कर्मचारियों का कोई भविष्य नहीं है इसलिए इसे बंद कर पुरानी पेंशन स्कीम को लागू करना ही होगा। उन्होंने सभी कर्मचारियों से अपील की कि वे सभी गिले शिकवों को भुलाकर श्रमिक यूनियन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चले तो आगे निश्चित ही सफलता मिलेगी।

11 से वर्क टू रूल पर

                     अपने जोशीले अंदाज में अधिवेशन को संबोधित करते हुए सहायक महामंत्री एके मोहंती ने कहा कि एआईआरएफ 1924 से रेल कर्मचारियों के हितों के लिए संघर्ष कर रहा है। उन्होनंे कहा कि पहले वेतनमान से सातवां वेतनमान सभी एआईआरएफ के कारण ही संभव हुआ है। उन्होंने बताया कि एआईआरएफ ही एकमात्र ऐसा संगठन है जिसने कर्मचारियो ंके हितों के लिए तीन बार हड़ताल की है। श्री मोहंती ने बताया कि श्रमिक यूनियन कर्मचारियों के हक और जायज मांगों के लिए 11 दिसंबर से वर्क टू रूल पर काम करने जा रहा है। अध्यक्षता कर रहे सलाहकार आरएस गौर ने कहा कि आज का यह अधिवेशन आने वाले दिन के लिए मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने यह भी बताया कि यूनियन की मान्यता नहीं होने से किस तरह इस क्षेत्र में रेल कर्मचारियों के हितों का नुकसान हुआ है। अधिवेशन में रेल कर्मचारियों की विभिन्न समस्याओं के संबंध में भी चर्चा की गई।
                     अधिवेशन में एके बेग, अशोक सुरीन, डीके कल्याणी, रवि सरकार, किशनलाल, राजेश निर्मलकर, कल्याणजी सोनी, अजीत बाघे, आनंद गजभिए, पीएस राव, राजेश गजभिए, गोपीकिशन, एके सोनी, बाबू भाई, एके साहू, शेख अलीम और आसिफ सहित बड़ी संख्या में रेल कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन पुष्पेंद्र शर्मा ने किया।

ये अतिथि भी रहे उपस्थिति

                     श्रमिक यूनियन के पदाधिकारियों के साथ ही अधिवेशन में विशिष्ट अतिथि के रूप में जेड आर यू सी सी के सदस्य व भाजपा के वरिष्ठ नेता अनिल गुप्ता, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश जगवानी, वरिष्ठ भाजपा नेता कैलाश तिवारी और कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री सुभाष गुप्ता भी मंचासीन रहे। सभी अतिथियों ने अपने संबांेधन में कहा कि श्रमिक यूनियन सिर्फ रेल कर्मचारियों की समस्यों के लिए की नहीं बल्कि सामाजिक सरोकार और नगर के विकास के लिए भी अपनी भूमिका का निर्वहन कर रहा है। सभी ने अपने संबोधन में यह भी कहा कि जोनल महामंत्री मनोज बेहरा और सहायक महामंत्री एके मोहंती का नगर के लोगों से भी विशेष लगाव है। उन्होंने यह भी कहा कि आपकों हमारी जहां भी जरूरत पड़े आप याद करियें हम आपके साथ खड़े मिलेंगे।

About the Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *