वारंटियों को पकडऩे जा रहे पुलिसकर्मियों की कार को अज्ञात वाहन ने मारी टक्कर में आरक्षक की मौत

मयंक भार्गव

बैतूल १३ फरवरी ;अभी तक; फरार वारंटियों को पकडऩे के लिए जा रहे पुलिसकर्मियों का वाहन की एक अज्ञात वाहन से टक्कर हो गई। इस टक्कर में एक पुलिस आरक्षक की मौत हो गई वहीं तीन घायल हो गए हैं। घायलों में एक की हालत गंभीर होने पर उसे नागपुर रेफर किया गया है। जबकि दो घायल आरक्षकों का जिला मुख्यालय पर निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है।
जिला मुख्यालय से करीब 40 किमी. दूर चिचोली थाने के अंतर्गत आने वाले ग्राम चिरापाटला के पास यह घटना घटित हुई।

वारंटियों को पकडऩे जा रहे पुलिसकर्मियों की कार को अज्ञात वाहन ने मारी टक्कर में आरक्षक की मौत
वारंटियों को पकडऩे जा रहे पुलिसकर्मियों की कार को अज्ञात वाहन ने मारी टक्कर में आरक्षक की मौत

चिचोली थाना प्रभारी टीआई आर डी शर्मा  ने बताया कि बुधवार की रात्रि लगभग 11:30 ग्राम धनिया जाम के स्थाई वारंटी कोमल उईके तथा ग्राम चीरा पाटला लोहार ढाना के स्थाई वारंटी राजू को पकडऩे आरक्षक ड्राइवर देवी सेलूकर, आरक्षक दिलीप यादव, आरक्षक महेंद्र मैना तथा राजेंद्र सिंह तोमर प्रधान आरक्षक संतोष गीद की कार टोयोटा एमपी 48 सी 5289 से जा रहे थे कि सामने से आ रहे किसी अज्ञात वाहन ने कार को टक्कर मार दी, जिससे कार अनियंत्रित होकर पुलिया की वॉल से टकरा गई, जिससे चारों आरक्षक गंभीर रूप से घायल हो गए। कार का अगला हिस्सा पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया।
डायल 100 से मिली सूचना

डायल 100 को पाटा खेड़ा निवासी एक युवक ने सूचना दी । डायल हंड्रेड एंबुलेंस को लेकर घटनास्थल पहुंची । एंबुलेंस ने चारों घायलों को बैतूल प्राइवेट अस्पताल पहुंचाया, वहां पहुंचते ही आरक्षक दिलीप पिता हरिओम यादव 571 उम्र 28 वर्ष की मौत हो गई । दूसरे आरक्षक महेंद्र मैना के सिर में गंभीर चोट लगने पर उसे नागपुर के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती किया गया है । सिर में चोट की वजह से आरक्षक महेंद्र मैना कोमा में है । नागपुर के एक्सीलेंस अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। आरक्षक ड्राइवर देवी सैलूकर की रिपोर्ट पर चिचोली पुलिस ने अज्ञात वाहन के खिलाफ भादवि 304 ए 279 337 के तहत मामला दर्ज कर विवेचना में लिया ।
 बलून भी नहीं बचा पाए जान

पुलिया से टकराने के बाद कार के दोनों तरफ के फ्रंट सुरक्षा बलून खुल गए थे, इसके बावजूद भी आरक्षक दिलीप यादव को सीने में जबरदस्त चोट लगी थी। संभवत: पसली टूट कर उनके हृदय में घुस गई थी, जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि कार के फ्रंट बलून खुलकर फट गए। मृतक आरक्षक दिलीप पिता हरिओम यादव ग्राम नांदरा तहसील टिमरनी जिला हरदा निवासी की लगभग 2 वर्ष पूर्व ही शादी हुई थी उनकी पत्नी गर्भवती है।
पेट पर दर्द होने से उतर गया था एक आरक्षक

आरक्षक दिलीप यादव व्यवहार कुशल तथा कर्तव्यनिष्ठ थे तथा अधिकांश समय कंप्यूटर पर कार्य करते थे। लगभग 5 वर्ष पूर्व ही पुलिस की नौकरी में आए थे ,इसके पूर्व वे रानीपुर थाने में पदस्थ थे। रात्रि में वारंटियो को पकडऩे अपने साथी आरक्षक के साथ आलमपुर चीरापाटला जा रहे थे कि उनकी कार आलमपुर देव नाला पुलिया के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई, उसके सीने में जबरदस्त चोट लगी तथा उनका जबड़ा भी टूट गया था, संभवत सीने में चोट लगने की वजह से उनकी मृत्यु हुई। सौभाग्य की बात है कि कार के मालिक प्रधान आरक्षक संतोष गीद पेट में दर्द होने पर आलमपुर के ढाबे पर उतर गए थे, जिससे वे दुर्घटना की चपेट में आने से बच गए। युवा आरक्षक की मौत एवं तीन आरक्षक के घायल होने पर सभी ने दुख व्यक्त किया है ।                               

About the author /


Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *