हैदराबाद की डॉ. प्रियंका के हत्यारों को फांसी की मांग राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री से की

महावीर अग्रवाल
 मन्दसौर ५ दिसंबर ;अभी तक;  दशपुर जागृति संगठन, गायत्री परिवार, पतंजली योगपीठ, सुरभी स्कूल, राजपूतसिंह सभा, जिलाधार्मिक संस्था के साथ कई सामाजिक संगठनों ने हैदराबाद की घटना के विरोध में  गांधी चौराहे पर बलात्कारियों को फांसी दो, हत्यारों को फांसी दो, संसद में बैठे इन आरोपों के नेताओं को भी बाहर करो के नारे लगाकर महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री के नाम का ज्ञापन तहसीलदार श्री नांदेड़ को सौंपा। उसकी एक प्रति के लिफाफे राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री कार्यालय के लिये भेजे। इन लिफाफों को लेने स्वयं जिला पोस्ट विभाग का स्टॉफ गांधी चौराहा पहुंचा।
हैदराबाद की डॉ. प्रियंका के हत्यारों को फांसी की मांग राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री से की

हैदराबाद की डॉ. प्रियंका के हत्यारों को फांसी की मांग राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री से की

इस अवसर पर पिपलियामंडी संगठन प्रभारी पूर्व नपं अध्यक्ष प्रवीणा गुप्ता ने कहा कि अब देश में बेटीयों की सुरक्षा सरकार करने में असमर्थ है, अब सुरक्षा स्वयं को करना होगी। लगातार  रेप सरकार कमजोरी के कारण है। संगठन संरक्षक एम.पी. परिहार ने कहा कि देश में रेप करने वालों को फांसी की सजा सुनाने से ही नहीं इन्हें तत्काल लटकाने से ही समस्या का स्थायी हल है। हाईकोर्ट, सुप्रीम कोर्ट की अपील की समयावधि निर्धारित की जाये। हरिशंकर शर्मा ने कहा कि देश में बेटी पढ़ाओं का सरकार नारा दे रही है लेकिन बेटी बचाओं का नारा हमें देना होगा। रविन्द्र पाण्डे ने कहा कि देश के अंदर फांसी देने में सरकार की यह स्थित है वो केवल देश का दो-तीन दिन का उबाल देखकर लम्बी तारीकों में डालकर पीड़ित परिवारों को चक्कर काटने के साथ उसकी जान का खतरा और बन जाता है। प्रेमलता मिण्डा ने कहा कि भारत में बहनों को स्वयं अपनी लड़ाई की तैयारी करे। रात के समय कई मनचले युवक दिखे उन पर हमला बोले। गायत्री परिवार शक्तिपीठ व्यवस्थापक केशवराव शिन्दे ने कहा कि देश की संसद में बैठे भ्रष्टाचारी, दुराचानी, पापाचारी नेताओं को कमने का तत्काल निर्णय होगा। हमारी देश की बेटीया कोमल है, इनके साथ किसी प्रकार का अत्याचार हम बर्दास्त नहीं करेंगें। सुरभी स्कूल के संचालक मुकेश नागर ने कहा कि देश में वर्तमान 60 प्रतिशत क्षेत्रों में मातृशक्ति सेवा दे रही है। हर क्षेत्र में बेटीयां आगे है लेकिन देश के अत्याचारी अकेली बेटी देखकर हमला करते है। सरकार गुंगी बैठकर अपने हिसाब से निर्णय दे रही है। इस अवसर पर डॉ. देवेन्द्र पौराणिक, ठा. अर्जुनसिंह, विनय दुबेला, राजेश चौहान, अजीजुल्लाह खां खालीद, बालाराम दडिंग, विकास बसेर, अरूण गौड़, पं. अरूण शर्मा, वंदना भावसार, बंशीलाल टांक, विनिता गौड़, वर्षा बसेर, पार्वती बेन पोरवाल, कृष्णा बसेर, सपना चौधरी, चन्द्रप्रकाश विश्नोई, बी.एस. सिसौदिया, आशीष बंसल, हरिनारायण टेलर, विनोद मेहता, संतोष चौधरी, पार्वती बसेर, मुकेश नागर, शरदचन्द्र पारिख, रमेशचन्द्र चन्द्रे, बंशीलाल काबरा, दिलीप सांखला, सहित अनेक नागरिक उपस्थित थे। यह जानकारी सत्येन्द्रसिंह सोम ने दी।

About the author /


Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *