राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने रावण, कुंभकरण और मेघनाथ के पुतलों का किया दहन

3:14 pm or October 9, 2019
राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने रावण, कुंभकरण और मेघनाथ के पुतलों का किया दहन किया

 

मोहम्मद सईद

रायपुर 9 अक्टूबर अभीतक। विजयादशमी के अवसर पर मंगलवार शाम डब्ल्यू. आर. एस. कालोनी में आयोजित दशहरा उत्सव के अवसर पर राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने प्रदेशवासियों को विजयादशमी की शुभकामनाएं दी और सभी के जीवन में सुख, शांति एवं प्रेम का संचार की कामना की। उन्होंने कहा कि यह पर्व बुराई पर अच्छाई का, असत्य पर सत्य का, अनीति पर नीति का विजय का पर्व है। यह हमारे लिए महत्वपूर्ण दिन है, इस दिन भगवान श्रीराम ने रावण का वध किया था और इसी ही दिन महिषासुर का भी वध हुआ था। उन्होंने कहा कि असत्य, अन्याय और दुराचार रूपी पुतलों का दहन कर हम भगवान श्री राम के शौर्य की जीत का उत्सव मनाते हैं।

राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने रावण, कुंभकरण और मेघनाथ के पुतलों का किया दहन किया

राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने रावण, कुंभकरण और मेघनाथ के पुतलों का किया दहन किया

                         राज्यपाल सुश्री उइके ने कहा कि भगवान श्री राम द्वारा स्थापित जीवन मूल्य आज भी हमारे लिये आदर्श एवं मार्गदर्शक हैं। आज आवश्यकता है कि हम अपने अंदर के अहंकार, क्रोध, घृणा जैसे मनोविकारों को समाप्त करें। साथ ही इस अवसर पर भगवान श्रीराम के आदर्शों को हृदय में संजोए हुए समाज और देश का उत्थान करने का संकल्प लें और छत्तीसगढ़ की प्रगति में अपना योगदान दें।
                             मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि आज अन्याय के प्रतीक रावण का भगवान श्रीराम ने वध किया, इसलिए हम सब इसे विजयादशमी के रूप में मनाते हैं। यह असत्य पर सत्य की जीत का उत्सव है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ भगवान राम का ननिहाल है। यह माता कौशिल्या की भूमि है। इसलिए आज भी छत्तीसगढ़ में मामा द्वारा भांजे की चरण स्पर्श करने की परंपरा है। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीराम ने अपने वनवास का कुछ समय छत्तीसगढ़ में बिताया था। उन्होंने कहा कि इस अवसर पर माता कौशिल्या के राम को नमन करते हुए मैं प्रदेश की सुख-समृद्धि की कामना करता हूं। कार्यक्रम में वरिष्ठ जनप्रतिनिधि तथा अन्य जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। इस अवसर पर आकर्षक आतिशबाजी की गई और रामलीला का मंचन भी किया गया।

About the author /


Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *